मिशन वात्सल्य योजना 2022 (Mission Vatsalya Scheme)

Rate this post

मिशन वात्सल्य योजना 2022 (अभियान, योजना, लाभार्थी, लाभ, दस्तावेज, पात्रता, मूल वेबसाइट, पंजीकरण, आवेदन, उद्देश्य, टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर, शासन निर्णय) मिशन वात्सल्य योजना (योजना, लॉन्च तिथि, वेतन, कर्मचारी, दिशानिर्देश, हेल्पलाइन नंबर, उद्देश्य, पंजीकरण, आधिकारिक वेबसाइट, पात्रता, दस्तावेज, लाभार्थी, लाभ)

वर्ष 2022 में फरवरी के महीने में देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वर्ष 2022 के लिए भारत का केंद्रीय बजट पेश किया, जिसका देश के सभी लोगों और अन्य राजनीतिक दलों को लंबे समय से इंतजार था। जैसा कि आप जानते हैं कि हर साल जब भारत का बजट पेश किया जाता है तो भारत के विकास के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाओं की घोषणा बजट में की जाती है और इसके लिए फंड भी जारी किया जाता है। इसी क्रम के अनुसार वर्ष 2022 के बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मिशन वात्सल्य नाम से एक योजना शुरू करने की घोषणा की है, जिसकी देखरेख स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय करेगा। आइए इसके बारे में और जानें।

Contents hide

मिशन वात्सल्य योजना 2022 (मिशन वात्सल्य योजना)

योजना का नाम मिशन वात्सल्य योजना
किसने घोषणा की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
साल 2022
लाभार्थियों महिलाएं और बच्चे
बजट 900 करोड़
कार्यस्थान अखिल भारतीय
आधिकारिक वेबसाइट एन/ए
कर मुक्त नंबर एन/ए

क्या है मिशन वात्सल्य योजना

आप जानते हैं कि हमारे देश में इस समय बहुत से ऐसे बच्चे हैं जो जल्दी मर रहे हैं, इसका मुख्य कारण पौष्टिक दूध की कमी है, क्योंकि उनकी माँ को उचित पोषण आहार दिया जाता है। पाया नहीं जा सकता। इसलिए भारत में जन्म लेने वाले बच्चों की मृत्यु दर को कम किया जाना चाहिए, साथ ही स्तनपान को भी प्रोत्साहित किया जाना चाहिए, इसीलिए सरकार ने मिशन वात्सल्य शुरू करने की घोषणा की है।

बता दें कि कुछ जगहों पर इसे मैत्री अमृत कोष भी कहा जाता है। इस मिशन की देखरेख की जिम्मेदारी सरकार की ओर से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय को दी गई है। हाल ही में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने वर्ष 2022 में भारत का आम बजट पेश किया, जिसमें उन्होंने यह भी घोषणा की कि सरकार मिशन वात्सल्य को आगे ले जाने के लिए पूरी तरह तैयार है, ताकि बच्चे भी इसका लाभ उठा सकें। और इसका लाभ महिलाओं को भी मिल सकता है।

बता दें कि बाल विकास मंत्रालय द्वारा मुख्य योजना को 3 भागों में बांटा गया है, जिसमें पहला भाग मिशन पोषण 2.0, दूसरा भाग मिशन शक्ति और तीसरा भाग मिशन वात्सल्य है।

मिशन वात्सल्य उद्देश्य

हर मां चाहती है कि उसका बेटा/बेटी पूरी तरह से स्वस्थ पैदा हो और वह उसके बुढ़ापे की छड़ी का सहारा बने, लेकिन कभी-कभी कुछ ऐसे हालात आ जाते हैं जिसमें उसके बेटे/बेटी की मौत हो जाती है। आमतौर पर ऐसी स्थिति बन जाती है जब बेटे/बेटी को सही तरह का पोषण नहीं मिल रहा है, क्योंकि जब मां को सही पोषण नहीं मिलेगा तो वह अपने बच्चे को स्तनपान कैसे कराएगी।

इसलिए ऐसी महिलाओं की समस्या को देखते हुए सरकार ने मिशन वात्सल्य शुरू करने की घोषणा की है, जो स्तनपान को बढ़ावा देने और जन्म लेने वाले बच्चों की मृत्यु दर को कम करने का काम करेगा। यह भारत में कई परिवारों को उखड़ने से बचाएगा।

मिशन वात्सल्य शासन के निर्णय और लाभ (मिशन वात्सल्य दिशानिर्देश, लाभ)

• वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसे साल 2022 में शुरू करने का ऐलान किया है, जिसका काम स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय संभालेगा.

• मिशन वात्सल्य के तहत भारत की राजधानी में राष्ट्रीय मानव दुग्ध बैंक की स्थापना की गई है।

• इस मिशन से महिलाओं को स्तनपान के लिए प्रेरित किया जाएगा।

• आपको बता दें कि मिशन वात्सल्य के तहत एक ब्रेस्टफीडिंग कंसल्टेंसी सेंटर भी स्थापित किया गया है।

• योजना के कारण बच्चों की मृत्यु दर में काफी कमी आएगी।

• निर्मला सीतारमण ने बजट में इस मिशन पर 900 करोड़ रुपये खर्च करने की घोषणा की है.

मिशन वात्सल्य इरी (मिशन वात्सल्य वेतन)

मिशन वात्सल्य योजना के तहत लाभार्थी महिलाओं को इस योजना के तहत लाभान्वित किया जाना है। इसके तहत उन्हें वेतन दिया जाएगा। जिसकी जानकारी सरकार की ओर से अभी तक नहीं दी गई है। इसे जल्द ही अपडेट किया जाएगा।

मिशन वात्सल्य पात्रता (मिशन वात्सल्य पात्रता)

आपको बता दें कि 2022 के बजट में इस योजना का विस्तार निर्मला सीतारमण जी ने किया है। लेकिन अभी तक यह घोषणा नहीं की गई है कि इस योजना का लाभ किसे मिलेगा या नहीं, इसलिए अब हम पक्के तौर पर यह नहीं कह सकते कि कौन से लोग इस योजना के लाभार्थी बन सकते हैं या कौन से लोग इस योजना के लिए पात्र होंगे। पात्रता रखते हैं। जैसे ही हमें इस योजना के लिए पात्रता की जानकारी मिलती है, हम इसे लेख में डाल देंगे, ताकि आप पात्रता जानकारी की जांच कर सकें।

मिशन वात्सल्य दस्तावेज़ (मिशन वात्सल्य दस्तावेज़)

• आधार कार्ड

• पैन कार्ड (यदि आवश्यक हो)

• फ़ोन नंबर

• राशन कार्ड की फोटोकॉपी

• ईमेल आईडी (यदि आवश्यक हो)

• पहचान प्रमाण पत्र

• पता प्रमाणपत्र

• कास्ट सर्टिफिकेट

मिशन वात्सल्य पंजीकरण

जहां तक ​​हमें जानकारी मिली है, सरकार ने अभी तक इस योजना में पंजीकरण के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। इसलिए हम आपको इस बारे में जानकारी नहीं दे सकते कि आप अभी इस योजना के लिए कैसे आवेदन कर सकते हैं।

हालांकि, प्राप्त सूत्रों के अनुसार भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में इस योजना में ऑफलाइन आवेदन किया जा सकता है। ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत आशा कार्यकर्ताओं के पास स्तनपान कराने वाली महिलाओं की पूरी जानकारी होती है। इनके माध्यम से आप इस योजना की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यदि ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया आती है, तो हम इसे लेख में डालेंगे।

मिशन वात्सल्य हेल्पलाइन नंबर (मिशन वात्सल्य हेल्पलाइन नंबर)

अभी तक मिशन वात्सल्य के लिए कोई हेल्पलाइन नंबर जारी नहीं किया गया है। इसलिए हम अभी आपको हेल्पलाइन नंबर नहीं दे सकते। जैसे ही कोई टोल फ्री नंबर या हेल्पलाइन नंबर जारी होगा, हम उसे यहां जोड़ देंगे।

सामान्य प्रश्न

Q: मिशन वात्सल्य की योजना की घोषणा किसने की है?

उत्तर: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

प्रश्नः मिशन वात्सल्य के लिए कितना बजट दिया गया है?

Ans: 900 करोड़

प्रश्न: मिशन वात्सल्य से क्या होगा?

उत्तर: बच्चों की मृत्यु दर में कमी आएगी।

प्रश्न: मिशन वात्सल्य का टोल फ्री नंबर क्या है?

उत्तर: अभी तक सरकार ने इसके लिए कोई टोल फ्री नंबर जारी नहीं किया है। जैसे ही इसे जारी किया जाएगा इसे लेख में अपडेट किया जाएगा।

अधिक पढ़ें –

Sharing Is Caring:

Leave a Comment